Quiz General Knowledge: ट्रेन में कितने गियर होते हैं और कैसे काम करते है? - Freshers Quiz

Quiz General Knowledge: ट्रेन में कितने गियर होते हैं और कैसे काम करते है?

Quiz General Knowledge : दोस्तों ट्रेन में कितने गियर होते हैं और कैसे काम करते है। ऐसा सवाल आप सभी के दिमाग में जरूर आया होगा। वैसे दुनिया में कितनी सारी ऐसी बाते है जिनके बारे में हम कुछ जानते ही नहीं । लेकिन कही से कुछ प्रश्न आ जाये तो उसके बारे में जानने के लिए मन बेताब हो जाता है। क्यों की हमने जिस चीज़ के बारे में कभी सोचा नहीं अगर उसका प्रश्न हमारे सामने आजाये तो उसका उत्तर जाने बिना हमे चैन नहीं मिलता है। ऐसा ही आज का यह प्रश्न है की ट्रैन में कितने गियर होते है। इस प्रश्न का उत्तर बहुत कम लोगो को पता है। क्यों की इसके बारे में बहूत कम लोग सोचते है। आइये जानते है इसके बारे में..

Quiz General Knowledge: ट्रेन में कितने गियर होते हैं और कैसे काम करते है?


हमारे देश की रेलवे दुनिया के सबसे बड़े रेलवे नेटवर्क में से एक है। चीन, अमेरिका, रूस के बाद इस दुनिया का सबसे लंबा रेल का नेटवर्क भारत में है‌। भारत में पटरियों की कुल लंबाई 72,000 किलोमीटर से भी ज्यादा है। और हमारी भारतीय रेलवे 13500 से अधिक ट्रेनों का परिचालन करती है।

Quiz General knowledge: वो कौनसी सब्जी खाने से मनुष्य की अधिकतर बीमारी ठीक होती है?

वैसे आपने कभी ना ट्रैन में सफर जरूर किया होगा लेकिन क्या आपके मन में कभी ये सवाल आया है की जिस ट्रैन में आप बैठे है ये भी ठीक बाइक और कार की तरह गियर से ही कंट्रोल होती है। इस बारे में बहूत कम लोग जानते है की ट्रैन में भी गियर होता है। आइये जानते है ट्रैन में कितने गियर होते है और इनका ईस्तमाल कैसे होता है।

ट्रेन में कितने गियर होते हैं

दोस्तों ट्रैन के इंजन में भी स्पीड कंट्रोल के लिए गियर होते है। डीजल लोकोमोटिव के एक पायलट ने जानकारी दी है। ट्रैन में कुल 8 गियर होते है जिन्हे नॉच के नाम से जाना जाता है। इसमें डीजल लोकोमोटिव और इलेक्ट्रिक लोकोमोटिव की बनावट अलग-अलग होती है। जिसमे नॉच अलग अलग तरीके से तैयार किये जाते है।

ट्रैन के गियर भी अन्य गाड़ियों की तरह स्पीड बढ़ाने के लिए किये जाते है। डीजल लोकोमोटिव को 8वें नॉच पर डालने के बाद 100 किलोमीटर प्रति घंटे की स्पीड तक ले जाया जा सकता है। इसी तरह अगर ट्रैन की स्पीड को कम करना होता है। जब ही नॉच को गिरा दिया जाता है। जिससे ट्रैन की स्पीड कम हो जाती है ।

नॉच को बार बार नहीं बदलना पढ़ता

GK Quiz एक बार अगर ट्रैन की स्पीड बढ़ जाती है, तो फिर नॉच को फिक्स कर दिया जाता है। फिर नॉच को बार बार नहीं बदलना पड़ता है। नॉच एक बार फिक्स हो जाने का बाद ट्रैन अपनी गति से चलती रहती है। ट्रैन की स्पीड भी फिक्स हो जाती है। डीजल लोकोमोटिव इंजन में नॉच को पायलट को ही शिफ्ट करना होता है। वही अगर इलेक्ट्रिक इंजन की बात करें तो उसमे नॉच शिफ्ट करने की जरूरत नहीं होती वह ऑटोमेटिक शिफ्ट हो जाते हैं।

दोस्तों अगर आपको यह जानकारी अच्छी लगे हो तो आप हमें कमेंट करके बता सकते हैं।

अगर आपको इन में कुछ कमी लगी हो तो वह भी हमें कमेंट करके बता सकते हैं और इसके अलावा आपके दिल की कोई बात हो तो वह भी हमें कमेंट में जरूर बताएं हो सकता है।