फिल्म डायरेक्टर कैसे बन सकते है- film director kaise ban sakte hain

फिल्म डायरेक्टर कैसे बन सकते है (film director kaise bane): फिल्म निर्माता या डायरेक्ट उन्हें कहते हैं जो फिल्म का निर्माण करते हैं और उसे डेवलप करते हैं। बहुत से लोगो के मन में अक्सर ये सवाल होता है कि वे फिल्म डायरेक्टर कैसे बन सकते है (film director kaise ban sakte hain)। अगर आप फिल्म डायरेक्ट या फिल्ममेकर बनना चाहते हैं तो यह लेख आपके काम का है। क्योंकि इस लेख में हम आपको यह बताएँगे कि फिल्म डायरेक्टर कैसे बने।

film Making एक ऐसा करियर है जिसमे व्यक्ति अपने लीडरशिप स्किल्स को इस्तेमाल कर सकते हैं, इसके साथ ही अपने क्रिएटिव स्किल्स को एक्सप्लोर करके के मोशन पिक्चर्स को डायरेक्ट कर सकते हैं। फिल्ममेकर को मूवीमेकर या डायरेक्टर के रूप में भी जाना जाता है जो कि एक फिल्म बनाने के लिए कई स्टेप्स में काम करता है। फिल्म मेकिंग एक ऐसा जॉब है जो आजकल बहुत सारे युवाओं को अपनी आकर्षित कर रहा है। जो भी एक फिल्म मेकिंग में योग्यता और अनुभव हासिल कर लेता है तो उसे अच्छी सैलरी ऑफर की जाती है।

जो लोग फिल्म डायरेक्टर बनना चाहते हैं वे लोग विभिन्न अंडरग्रेजुएट और पोस्टग्रेजुएट फिल्म मेकिंग कोर्स एडमिशन ले सकते हैं।

आपको बता दें कि फिल्ममेकिंग कोर्स के लिए एडमिशन डायरेक्ट होता है। बस आपको इस कोर्स के लिए एनरोल करना होता है। भारत में कई सारे ऐसे कॉलेज हैं जिनसे आप फिल्म मेकिंग या फिल्म डायरेक्ट का कोर्स कर सकते हैं। इन कोर्स में एडमिशन लेने के लिए आपको 12th कक्षा पास या फिर स्नातक होना आवश्यक है। इसके अलावा कुछ ऐसे भी नेशनल और स्टेट कॉलेज हैं जिनमे एडमिशन लेने के लिए आपको BHU UET, DUET, AMUET जैसे एंट्रेंस एग्जाम देना होगा।

फिल्म मेकिंग कोर्स की फीस कॉलेज और कोर्स के हिसाब से अलग-अलग हो सकती है। लेकीन आमतौर पर कॉलेज इस कोर्स के लिए 10 हजार रूपये से लेकर 4 लाख रूपये तक लेते हैं। फिल्म मेकिंग कोर्स में जॉब स्कोप की कोई लिमिट नहीं है। यह एक तरह का एंप्लॉयमेंट होता है। आप इसमें अपनी मर्जी से जितना चाहे उतना काम सकते हैं और अधिक से अधिक पैसा भी कमा सकते हैं।

फिल्म डायरेक्टर क्या होता है (What is Film Director)

फिल्म में डायरेक्ट बनना फिल्म जगह के सबसे आकर्षक पेशो में से एक है। फिल्म डायरेक्टर एक ऐसा व्यक्ति होता है जो कि film production टीम का head होता है जो कि फिल्म बनाने के लिए कहानी, आर्टिस्टिक एस्पेक्ट्स और स्क्रीनप्ले के विजुअलाइजेशन के साथ साथ टेक्निकल क्रू और एक्टर्स को गाइड करता है। एक फिल्म डायरेक्टर की सबसे बड़ी जिम्मेदारी कास्ट मेंबर और प्रोडक्शन डिजाइन के चयन के साथ-साथ फिल्म निर्माण के रचनात्मक पहलुओं के लिए भी होती है।

दूसरे शब्दों में हम फिल्म डायरेक्टर को फिल्म का लेखक भी कह सकते हैं। जो भी लोग डायरेक्ट के रूप में अपना करियर शुरू करते हैं वे फिल्म की कास्ट और क्रू को डायरेक्शन देते हैं और ओवरऑल विजन क्रिएट करते हैं। इसलिए फिल्म इंडस्ट्री में डायरेक्टर का रोल बहुत महत्वपूर्ण होता है।

अगर आपको फिल्म डायरेक्टर बनाना है तो सबसे पहले आपको फिल्म इंडस्ट्री के बारे में पूरी नॉलेज होनी बेहद आवश्यक है। इसके लिए आप ऐसे फिल्म स्कूल में शामिल हो सकते हैं जहां आप फिल्ममेकिंग से संबंधित ज्ञान प्राप्त कर सकते हैं। फिल्म स्कूल से आपको फिल्म के बारे में तकनीकी और फिल्म निर्माण के रचनात्मक पहलू की पूरी जानकारी मिलेगी।

फिल्म डायरेक्टर बनने के लिए आपको अपना एक पोर्टफोलियो तैयार करना होगा। इसके साथ ही आप अपनी क्रिएटिविटी और डायरेक्टोरियल स्किल्स को दिखाने के लिए अपनी एक शॉर्ट फिल्म्स और म्यूजिक वीडियो डायरेक्ट कर सकते हैं। इससे आपको अपनी डायरेक्शन स्किल्स और टैलेंट को दिखाने का मौका मिलेगा। इसके साथ ही आपको फिल्म डायरेक्टर बनने के लिए फिल्म इंडस्ट्री में भी अपने कनेक्शन बनाना पडेंगे। इसके लिए आप फिल्म फेस्टिवल्स और इवेंट्स में पार्टिसिपेट कर सकते हैं जहाँ पर आपको फ़िल्मी दुनिया के प्रोफेशनल्स से मिलने का मौका प्राप्त होगा।

फिल्ममेकिंग कोर्स के बाद करियर आप्शन (career option after film making course)

फिल्ममेकिंग का कोर्स करने के बाद आप फिल्म डायरेक्टर ही नहीं बनते। बल्कि फिल्म मेकिंग में आप कई तरह से अपना करियर बना सकते हैं।

कास्टिंग डायरेक्टर (Casting Director)

कास्टिंग डायरेक्टर एक ऐसा व्यक्ति होता है जो कि फिल्म के लिए एक्टर्स और एक्ट्रेसेस को कास्ट करता है। कास्टिंग डायरेक्टर (Casting Director) विभिन्न लोगों को ऑडिशन लेता है और उन्हें cast करता है। यह प्रोड्यूसर्स, डायरेक्टर्स और एक्टर्स के क़रीब होते हैं और उनके बीच के गैप को कम करने में मदद करते हैं।

फिल्म एडिटर (film editor)

फिल्म एडिटर एक ऐसा व्यक्ति होता है जो कि फिल्म स्टोरीज को डिजाइन और फिल्म को एडिट करने का काम करता है। आपको बता दें कि film editor एक समय पर कई सारे प्रोजेक्ट पर काम करता है और उन्हें प्री-प्रोडक्शन वर्क को भी मैनेज करना होता है।

सिनेमैटोग्राफर (cinematographer)

सिनेमैटोग्राफर जिसे कैमरामैन के रूप में भी जाना जाता है। आपको बता दें कि सिनेमैटोग्राफर (cinematographer) एक ऐसा हेड कैमरामैन होता है जो मूवी, एंटरटेनमेंट टेलीविजन प्रोडक्शन, न्यूज, स्पोर्ट्स आदि के साथ काम करता है। डायरेक्टर के काम में कलात्मक और तकनीकी निर्णय लेना जैसे काम शामिल हैं जो कि image से संबंधित होते हैं।

फिल्म निर्माता (Film Producer)

फिल्म निर्माता या फिल्म प्रोडूसर वो व्यक्ति होता है जो कि फिल्म क प्रोडक्शन के सारे काम को ओवरसी करता है। यह फिल्म को बनाने के लिए पैसे जुटाता है। प्रोड्यूसर का काम फिल्म रिलीज के बाद भी जारी रहता है क्योकि दर्शकों के साथ टेस्ट, स्क्रीनिंग और प्रमोशन भी करने होते हैं।

संगीत निर्देशक (music director)

संगीत निर्देशक का काम फिल्म के लिए म्यूजिक सेलेक्ट करना और म्यूजिशियन के साथ काम करना। ये रिहर्सल और परफॉर्मेंस को लीड करते हैं। इसके साथ हीये म्यूजिकल ग्रुप के एडमिनिस्ट्रेटिव डिटेल्स के लिए भी जिम्मेदार होते हैं।

फिल्म डायरेक्टर बनने के लिए अच्छे इंस्टिट्यूट (Best Film Direction Course Institute)

नीचे हमने कुछ इंस्टिट्यूट के नाम दिए हैं जिनसे आप Film Direction course करने के लिए एडमिशन ले सकते हैं। आइये जानते हैं अब फिल्म डायरेक्टर बनने के लिए कुछ अच्छे इंस्टिट्यूट के नाम।

  • मुंबई फिल्म इंस्टिट्यूट, मुंबई (Mumbai Film Institute, Mumbai)
  • फिल्म एंड टेलीविज़न इंस्टिट्यूट ऑफ़ इंडिया, पुणे सत्यजीत रे फिल्म एंड टेलीविज़न (Film and Television Institute of India, Pune Satyajit Ray Film and Television)
  • डिजिटल फिल्म एकेडमी, मुंबई (Digital Film Academy, Mumbai)
  • क्राफ्ट फिल्म स्कूल, दिल्ली (Craft Film School, Delhi)
  • एशियन अकादमी ऑफ़ फिल्म एंड टेलीविज़न, नोएडा (Asian Academy of Film and Television, Noida)
  • इंस्टिट्यूट ऑफ़ इंडिया, कोलकाता (Institute of India, Kolkata)
  • अनापूर्ण इंटरनेशनल स्कूल ऑफ़ फिल्म एंड मीडिया, हैदराबाद (Anapurna International School of Film and Media, Hyderabad)
  • ICE इंस्टिट्यूट, मुंबई (ICE Institute, Mumbai)

फिल्म डायरेक्टर कैसे बन सकते है (film director kaise ban sakte hain)

अगर आप डायरेक्टर बनना चाहते हैं तो इसके लिए आपको सबसे पहले भारत के किसी भी मान्यता प्राप्त बोर्ड से 12 वी की परीक्षा न्यूनतम 60 अंको के साथ पास करना होगा। इसके बाद आप फिल्म मेकिंग कोर्स के एडमिशन के लिए होने वाले एंट्रेंस एग्जाम का हिस्सा बन सकते है।

यह तो हो गई एजुकेशन की बात लेकिन इसके साथ ही आपको बता दें कि फिल्म डायरेक्टर बनने के लिए आपको बहुत मेहनत करनी होगी। इसके साथ ही आपका दिमाग भी तेज और क्रिएटिव होना चाहिए। आपका दिमाग ऐसा होना चाहिए कि आप फिल्म को लेकर ऐसे चीज़े सोच सके जो हर कोई नहीं सोच सकता।

किसी भी अच्छे फिल्म इंस्टिट्यूट से डायरेक्टर का कोर्स करने के बाद आपको किसी भी प्रोडक्शन हाउस में किसी डायरेक्टर के नीचे असिस्टेंट के रूप में काम करना होगा। जिससे कि आप फिल्म डायरेक्शन का अनुभव ले सके। ऐसा जरुरी नहीं कि आपको फिल्म डायरेक्टर बनने के लिए कोर्स ही करना पड़े आप। बिना कोई कोर्स किये भी किसी डायरेक्टर के असिस्टेंट के रूप में काम कर सकते है और डायरेक्शन का अनुभव प्राप्त कर सकते हैं।

डायरेक्टर का करियर (Film Director Career)

फिल्म डायरेक्टर के तौर पर करियर काफी ज्यादा अच्छा है। क्योंकि भारत की फिल्मे पूरी दुनिया में देखी जाती है। इसलिए फिल्म डायरेक्टर के करियर की शरुआत करना एक अच्छा करियर आप्शन हो सकता है।

फिल्म डायरेक्टर की फिल्मों के साथ ही आजकल वेबसीरीज में भी काफी ज्यादा जरूरत होती है। इसके अलावा आप भारत की विभिन्न फिल्म इंडस्ट्री जैसे बॉलीवुड, टॉलीवूड, भोजपुरी आदि में अपना करियर शुरू कर सकते हैं। इन सभी जगह डायरेक्टर के तौर पर कई आप्शन हैं। सीधे शब्दों में कहें तो एक फिल्म डायरेक्टर बनना बहुत अच्छा आप्शन साबित हो सकता है।

Leave a Comment

Index